दिल के मरीजों की जान ले सकती सर्दी, ऐसे रखें अपना ख्याल

Health, Off Beat

डॉक्टरों का कहना माने तो दिल के मरीजों के लिए सर्दी बेहद खतरनाक साबित होती है और इसी की वजह से कई दिल के मरीजों ने अपनी जान गवा दी है। लेकिन सर्दी कैसे खतरनाक साबित होती है दिल के मरीजों के लिए आइये जानते है :-

दरअसल, डॉक्टर्स का कहना है कि सर्दी के महीनों में दिल का दौरा पड़ने का खतरा काफी बढ़ जाता है। खासकर सर्दियों की सुबह के समय, क्योंकि उस समय मौसम काफी ठंडा होता है और मरीजों का दिल बाकी लोगों की तरह पंप नहीं कर पाता है। जिस वजह से दिल के दौरे का खतरा बढ़ जाता है।

जब इस बारे में हार्ट केयर फाउंडेशन (एचसीएफआई) के अध्यक्ष डॉ. के.के. अग्रवाल से दिल के मरीजों और इलाज के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा, “सर्दियों के शुरुआती दिनों के दौरान अधिक धुंध और स्मॉग आम है। सर्दियों में बारिश के दौरान उच्च आद्र्रता होने पर तापमान में गिरावट आती है। जबकि, शुष्क या जाती हुई सर्दियों में फॉग या स्मॉग गायब कम हो जाता है और ठंडी हवाएं भी बंद हो जाती हैं।”

एक रिपोर्ट के मुताबिक, हवा में नमी, धुआं या अधिक मात्रा में धुल होने की वजह से दिल के कई मरीज अपनी जान गवा बैठे हैं और अगर ऐसी ही हालत में दूसरे मरीज भी निकले तो उनको भी दिल के दौरे का खतरा रहता है। आपको बता दें कि इन सब चीजों की तादाद सर्दियों में काफी बढ़ जाता है। 

इन सब चीजों के साथ साथ डॉ. अग्रवाल ने ये भी बताया कि, “स्मॉग से होने वाले नुकसानों में आंखों में लालिमा, खांसी या गले में जलन, सांस लेने में मुश्किल है। आपको बता दें कि स्मॉग से तेज अस्थमा के दौरे भी पड़ सकते हैं, साथ ही यह दिल के दौरे, स्ट्रोक, एरिदमिया को भी बढ़ा सकता है। 

बचाव कैसे करे

आपको बता दें कि आप बचाव के लिए इन नियमों का पालन कर सकते है :- 

  1.  ज्यादा से ज्यादा हरी सब्जियां खाए 
  2. सुबह सुबह वॉक करने की आदत डाले 
  3. दूषित हवा में जाने से बचे 
  4. सर्दियों में भाप या स्टीम ले 
  5. नियमित व्यायाम करें

Leave a Reply