अगर मां बनने की है ख्वाहिश तो भूलकर भी ना करें ये काम…

Health

ऐसा कहा जाता है कि किसी भी महिला के लिए मां बनना उसकी जिंदगी का सबसे खूबसूरत पल होता है जिसे हर महिला जीना चाहती है। वहीं महिलाओं की प्रेगनेंसी को लेकर कई अहम बातें होती हैं जिसकी सही और पूरी जानकारी लोगों में नहीं होती, दोस्तों आज हम आपको इससे जुड़ी कुछ जरुरी बातें बताने जा रहे हैं। आपको बता दें कि, जिन महिलाओं की लार में इस बायोमार्कर केमिकल काफी ज्यादा लेवल में पाया जाता है उनमें आने वाले समय में गर्भवती होने की संभावना करीब 30 प्रतिशत कम हो जाती है। ऐसे ही कुछ औस चौंकाने वाली बातें हैं जो आपके लिए जानना जरुरी हैं।

अगर आप मां बनना चाहती हैं, तो जरुरी है कि तनाव बिल्कुल ना लें। अमेरीका की ओहियो स्टेट यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने तनाव को जांचने के लिए महिलाओं के मुंह की लार को बायोमार्कर को जांच का जरीया बनाया। वहीं जिन महिलाओं की लार में इस बायोमार्कर केमिकल की मात्रा सबसे ज्यादा पाई गई, आने वाले समय में उनके गर्भवती होने की संभावना करीब 30 प्रतिशत कम हो गई।

Cute expectant mother is very tired. She is sitting on couch. Her eyes are closed with relaxation

जब आप तनाव में होते हैं तो आपके पार्टनर के साथ आपके संबंध भी अच्छे नहीं हो पाते हैं।महिलाओं में हर महीने एग रिलीज (ओव्यूलेशन) होने के बाद 48 घंटे की विंडो रहती है, जब मां बनने की संभावना सबसे ज्यादा होती है। अगर इस समय को मिस कर दिया जाता है तो अगली साइकल तक इंतजार करना पड़ता है।

Many women who are depressed during pregnancy will be depressed after their babies are born.

इंफर्टिलिटी की बड़ी वजह पीसीओएस भी तनाव से होती है। तनाव से धूम्रपान और अल्कोहल जैसी गलत आदतें लग जाती हैं। इससे सेहत बिगड़ने के साथ इंफर्टिलिटी की समस्या पर भी गहरा असर होता है।

कार्टिसोल जैसे स्ट्रेस हार्मोन से शरीर के मुख्य सेक्स हार्मोन जीएनआरएच पर असर होता है। इससे ओव्यूलेशन की प्रक्रिया में भी रुकावट पैदा होती है।

Leave a Reply